banyan tree

Banyan tree in hindi | भारत में है दुनिया का सबसे बड़ा बरगद का पेड़

Banyan tree in hindi | The Great Banyan Tree | विशालकाय बरगद का पेड़

 

 

Banyan tree जिसे हिंदी में बरगद का पेड़, वट वृक्ष या फिर बड़ का पेड़ भी कहा जाता है ।

 

Banyan tree
Banyan Tree

बरगद का पेड़ बहुत विशाल पेड़ होता है, तथा इसकी शाखाएं की लंबी लंबी होती है 

वैसे तो भारत देश में बहुत सारे बरगद के पेड़ हैं, लेकिन कुछ पेड़ इतने विशाल है, कि वह अपनी विशालता के कारण ही प्रसिद्ध हो गए है । इन पेड़ों में सबसे विशाल पेड़ जो पूरी दुनिया में सबसे बड़ा है उसी के बारे में मैं आज आपको बताऊंगा। जो अपनी विशालता के कारण पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है।

उस पेड़ का नाम है “द ग्रेट बनयान ट्री” जो अपने भारत देश में ही है और यह दुनिया का सबसे बड़ा बरगद का पेड़ है। बरगद के पेड़ को देखकर कोई भी आश्चर्यचकित हो जाएगा क्योंकि यह पेड़ नहीं एक छोटा जंगल है । हर साल देश और विदेश से हजारों की संख्या में लोग इसको देखने आते हैं ।

 

कहां पर स्थित है 

 

यह विशालकाय बरगद का पेड़ वेस्ट बंगाल के हावड़ा जिले के Acharya Jagadish Chandra Bose Indian Botanic Garden में स्थित है । जो भारत की सबसे प्रसिद्ध नदी गंगा के किनारे पर स्थित है, जिसे वेस्ट बंगाल में हुगली नदी कहा जाता है ।भारत की प्रसिद्ध और व्यस्ततम हावड़ा रेलवे स्टेशन से इस बरगद के पेड़ की दूरी लगभग 5 किलोमीटर के आसपास है ।

वर्ष 1787 में आचार्य जगदीश चंद्र बोस बॉटनिकल गार्डन की स्थापना की गई थी उस समय इस बरगद के पेड़ की उम्र 15 से 20 साल थी । तो लगभग यह बरगद का पेड़ ढाई सौ साल पुराना है । 

 

The great Banyan Tree
The Great Banyan Tree

 

The Great Banyan Tree | banyan tree in hindi | Banyan tree | the great banyan tree in hindi

 

 

अगर हम इस बरगद के वृक्ष को थोड़ा दूर से देखते हैं, तो हमें यह एक छोटे जंगल की भांति नजर आता है ।क्योंकि इसकी विशाल शाखाओं से जटाएं (शाखाओं से जड़े निकलकर हवा में लटकती हैं, तथा बढ़ते हुए धरती के भीतर घुस जाती हैं ) निकलकर वापस धरती में घुस जाती है और एक स्तंभ का रूप ले लेती है ।

 

  • यह विशाल बरगद का पेड़ 14500 वर्ग मीटर से भी ज्यादा भू भाग में फैला हुआ है, तथा इस पेड़ की ऊंचाई लगभग 24 मीटर है ।
  • इस विशालकाय बरगद के पेड़ की शाखाओं से निकलकर जमीन में जड़ों के माध्यम से स्तंभ का रूप में लेने वाली कुल जड़ों की संख्या 3618 है ।
  • सबसे खास बात यह है, कि इस विशाल बरगद के पेड़ में अलग-अलग किस्म की 87 प्रजातियों के पक्षियों का निवास स्थल भी है ।
  • इतने बड़े विशालकाय पेड़ के सम्मान में भारत सरकार ने के नाम से वर्ष 1987 में डाक टिकट भी जारी की थी ।
  • यह विशालकाय पेड़ बॉटनिकल सर्वे ऑफ इंडिया प्रतीक भी है ।
  • यह बरगद का पेड़ इतना विशाल है, की “गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड” मैं भी इसका नाम शामिल किया गया है ।
  • “द ग्रेट बनियान ट्री” का दूसरा नाम “वॉकिंग ट्री” भी है ।
  • इस विशालकाय बरगद के पेड़ की देखभाल के लिए 13 लोगों की टीम है , जिनमें से चार लोग सीनियर बॉटेनिस्ट है ।

 

Leave a Comment