Pm awas yojana | प्रधानमंत्री आवास योजना

Pm awas yojana

Pm Awas Yojana 

चाहे एक लड़का हो या लड़की हर किसी का सपना होता है स्वयं का घर बनाना। हमें बचपन से यह सिखाया जाता है कि पढ़ो लिखो और इतने काबिल बनो कि खुद का घर खरीद सको। आखिर कौन कम ब्याज दर में एक अच्छा होम लोन नहीं लेना चाहेगा। ऐसे ही इच्छुक लोगों के लिए प्रधानमंत्री जी ने एक नई स्कीम लॉन्च की है जिसका नाम  Pm awas Yojana है ।

यह योजना 2015 में लांच की गई थी। इस योजना के तहत इच्छुक व्यक्ति अपना घर बनाने के लिए बहुत कम ब्याज दर में लोन ले सकते हैं।

 यदि हम किसी निजी बैंक से भी घर बनाने के लिए लोन लेते हैं तो हमें एक eligibility criteria को  पार करना पड़ता है। वैसे ही Pm awas yojana में भी एक eligibility criteria है। जो भी व्यक्ति इस क्राइटेरिया में फिट बैठता है केवल उसी को घर बनाने के लिए कम इंटरेस्ट में लोन मिलता है।

 

 Pradhan Mantri Awas Yojana के तहत लोन लेने के लिए महत्वपूर्ण शर्तें

 जैसा कि मैं कह चुकी हूं कि Pm awas yojana के तहत लोन लेने के लिए कुछ शर्तें रखी गई है और उन शर्तों का पूरा होना जरूरी है। तभी आप को घर बनाने के लिए लोन मिल सकता है। 

  1. सबसे पहली शर्त है कि आपकी उम्र 21 से 55 साल के बीच होनी चाहिए । आपकी एक फैमिली होनी चाहिए। फैमिली का अर्थ है पति-पत्नी तथा 18 साल से कम उम्र का बच्चा। यदि आप की उम्र 21 साल से कम और 55 साल से ज्यादा है तो आपको यह लोन नहीं मिल सकता है।
  •  दूसरी महत्वपूर्ण शर्त यह है कि लोन लेने वाली फैमिली के पास पहले से किसी भी प्रकार का घर नहीं होना चाहिए। इस शर्त के साथ अक्सर कुछ लोग गलतफहमी का शिकार हो जाते हैं।  दरअसल यह लोन कोई व्यक्ति घर बनाने, घर खरीदने या नए घर की कंस्ट्रक्शन के लिए ले सकता है।  यदि आप पहले से बने हुए घर की कंस्ट्रक्शन के लिए लोन लेना चाहते हैं तो आपको एप्लीकेशन फार्म में यह बताना होगा।

 परंतु ऐसा नहीं हो सकता कि आपके नाम पर पहले से ही एक घर है और आप दूसरा घर लेने के लिए यह लोन लेना चाहते हैं।  तब आपको सरकार यह लोन नहीं दे सकती है। परंतु यदि आप पहले घर की रेनोवेशन कराना चाहते हैं तब आपको यह लोन जरूर मिलेगा। 

यही दो शर्तें हैं जो आपको Pm awas yojana का लोन लेने से पहले माननी पड़ेगी। यदि आप इन में से किसी एक शर्त पर भी अमल नहीं करते हैं तो आपको लोन नहीं मिलेगा। परंतु यदि आप दोनों शर्तों को पूरा कर रहे हैं तो आपको लोन  100% मिलेगा।

 

Pm awas yojana से आप कितने रुपए तक का लोन ले सकते हैं

 लोन लेने की निर्धारित मात्रा तय नहीं की गई है। आप लाखों से लेकर करोड़ों  का लोन ले सकते हैं। यह पूरी तरह आप पर निर्भर करता है कि आप कितनी राशि का लोन लेना चाहते हैं। आप चाहे दस लाख  या एक करोड का लोन ले इस पर कोई पाबंदी नहीं है। परंतु किसी भी लोन को चुकाने का कम से कम समय 20 साल का मिलेगा। 

लोन लेने की मात्रा तो निर्धारित नहीं की गई है परंतु आपको कितनी सब्सिडी मिलेगी यह जरूर तय किया गया है। आप चाहे कितने लाख या  करोड़ का लोन ले फर्क नहीं पड़ता है। परंतु आप को अधिकतम सब्सिडी सिर्फ और सिर्फ 265000 ही मिल सकती है। यह सब्सिडी भी category में बांटी गई है। आइए उन category के बारे में जानते हैं।

Pm awas yojana की चार category

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लोन के लिए अप्लाई करने वाले लोगों को चार category में बांटा गया है।  यह चार कैटेगरी ही तय करती है कि किस व्यक्ति को कितने रुपए का लोन मिलेगा।

 आइए जानते हैं इन चार कैटेगरी के बारे में ताकि आप भी आसानी से पता कर पाए कि आप किस कैटेगरी के तहत आते हैं तथा कितना बेनिफिट पा सकते हैं।

  • Economically weaker section (EWS) –

     Economically weaker section कैटेगरी में उन लोगों को डाला गया है जिनके घर की सालाना आय केवल तीन लाख है। याद रखिए केवल आपकी नहीं बल्कि आपकी और  यदि आपकी पत्नी भी कमाती है तो दोनों की आय 300000 या इससे कम होनी चाहिए। यदि आप दोनों की आए तीन लाख से कम है तो आप इस कैटेगरी के तहत आते हैं।

 Economically weaker section कैटेगरी के तहत आने वाले लोगों को सरकार 6.5 प्रतिशत सब्सिडी देती है। मान लीजिए आपको  8.5 % ब्याज दर पर होम लोन मिलता है । यदि आप Economically weaker section कैटेगरी के तहत आते हैं तो उन 8.5 प्रतिशत में से 6.5 प्रतिशत आपको सब्सिडी मिल जाएगी । अंत में आपको लोन सिर्फ और सिर्फ 2% ब्याज रेट पर मिलेगा।

परंतु पीएम आवास योजना एक सरकारी योजना है इसलिए इसकी कुछ शर्तें भी है।  इस कैटेगरी की शर्त यह है कि आपको 6.5 % सब्सिडी सिर्फ और सिर्फ छह लाख तक के लोन पर मिलेगी।  मान लीजिए आप 1000000 का लोन ले रहे हैं। उस 1000000 में से आपको केवल छह लाख पर 6.5 प्रतिशत सब्सिडी मिलेगी और आप सिर्फ 2% ब्याज रेट में कर्ज चुकाएंगे। बाकी के चार लाख में आपको साढे़ आठ प्रतिशत रेट ही चुकाना पड़ेगा। कहने का मतलब यह है कि आपको साढे 6% की सब्सिडी सिर्फ और सिर्फ 600000 या इससे कम के लोन पर मिलेगी । यदि आप इससे ज्यादा का लोन लेते हैं तो आपको आम ब्याज रेट चुकाना पड़ेगा।

  • Lower Income Group(LIG)-

      Lower income group कैटेगरी के तहत वे लोग आते हैं जिनकी सालाना इनकम 300000 से 600000 के बीच हो। पति और पत्नी दोनों की इनकम मिलाकर तीन से छह लाख के बीच होनी चाहिए। इस कैटेगरी की कुछ शर्तें economically weaker section जैसी ही है। इस कैटेगरी में भी आपको 600000 तक के लोन पर 6.5 प्रतिशत सब्सिडी मिलती है यदि आपके 6 लाख से ज्यादा का लोन लेते हैं तो आपको आम सब्सिडी पर ही कर्ज चुकाना होगा परंतु सब्सिडी की शर्तें थोड़ी अलग है

 Lower income group  कैटेगरी की 2 शर्तें हैं पहली शर्त तो यह है कि कोई भी इस कैटेगरी के तहत लोन लेकर 645 स्क्वायर फुट से बड़ा घर नहीं बना सकते हैं यदि आप इस कैटेगरी से लोन लेकर घर बनाना चाह रहे हैं तो आपको या तो 645 फुट या इससे कम क्षेत्र में घर बनाना होगा यदि आप इससे ज्यादा क्षेत्र में घर बनाते हैं तो आपको यह लोन नहीं मिलेगा

 Lower income group के तहत लोन लेने की दूसरी सबसे जरूरी शर्त यह है कि आपको अपने घर का ओनर या फिर को ओनर एक महिला को बनाना पड़ेगा  यदि आप एक पुरुष के नाम पर लोन लेने की सोच रहे हैं तो इस बारे में भूल जाइए एक पुरुष को   Lower income group के तहत लोन नहीं मिल सकता है इसलिए जब भी आप लोन के लिए अप्लाई करें तब या तो कोई महिला मालिक हो या फिर महिला को मालिक बना रहे  दें परंतु यदि आप बने हुए घर की रेनोवेशन कराने के लिए लोन लेना चाहते हैं तो आप एक पुरुष ओनर हो सकते हैं तब महिला और लड़की होना जरूरी नहीं है

  • Middle group income 1-

     Middle income group 1 के तहत वे लोग आते हैं जिनकी सालाना आय 7 से 1200000 के बीच आती है पति तथा पत्नी दोनों की आय 7 से 1200000 के बीच होनी चाहिए। यदि आप इसके तहत लोन लेते हैं तो आप 1700 वर्ग फुट या इससे कम क्षेत्र में घर बना सकते हैं 

 Middle group income 1  के तहत आने वाले लोगों को 6.5 प्रतिशत की सब्सिडी तो नहीं मिलती है परंतु इन्हें केवल 4% की सब्सिडी मिलती हैयानी कि यदि आप Middle group income 1 के तहत आते हैं और 8% ब्याज रेट पर लोन लेते हैं  तो आपको 4% ब्याज रेट की सब्सिडी मिल जाएगी और अंत में आपको केवल 4% ब्याज रेट पर अपना कर्ज चुकाना होगा

 Middle group income की शर्त यह है कि आपको ज्यादा से ज्यादा ₹900000 तक के लोन पर ही 4% सब्सिडी मिलेगी यदि आप नौ लाख से ज्यादा का लोन लेते हैं तो आपको उस पर 8% ब्याज रेट पर ही लोन चुकाना होगा यानी कि मान लीजिए आप 1500000 रुपए का लोन लेते हैं तो 900000 तक के राशि पर आपको 4% सब्सिडी मिलेगी परंतु बची हुए छह लाख को आपको 8% ब्याज रेट पर ही चुकाना पड़ेगा और आप अधिकतम 1700 वर्ग फुट के क्षेत्र में ही घर बना सकते हैं

Middle group income 2-  

Middle group income 2 के तहत वे लोग आते हैं जिनकी सालाना आय 13 लाख से 18 लाख के बीच होती है पति तथा पत्नी दोनों की आय 13 से 18 साल के बीच होनी चाहिएMiddle group income 2 के तहत आने वाले लोगों को केवल 3% की सब्सिडी मिलती है और यह आपको सिर्फ 12 लाख तक के लोन पर मिल सकेगी यदि आप 12 लाख से ज्यादा का  लोन ले रहे हैं तो आपको आम  ब्याज रेट पर ही लोन चुकाना होगा मान लीजिए आप 50 लाख का लोन ले रहे हैं तो आपको 12 लाख तक की राशि में 3% सब्सिडी मिलेगी परंतु बाकी की बची हुआ राशि आपको आम ब्याज रेट पर ही चुकानी पड़ेगी

Middle group income 2 के तहत लोन लेने वाले लोग अधिकतम 2100 वर्ग फुट क्षेत्र में घर बना सकते हैं यदि आप इससे ज्यादा क्षेत्र में घर बनाएंगे तो आपको लोन नहीं मिलेगा

  यह थी कुछ महत्वपूर्ण बातें PM awas yojana के बारे में आशा करते हैं कि आप इस लोन की सभी स्कीम तथा कैटेगरी को अच्छे से समझ गए हैं आपको पता लग चुका है कि आप किस कैटेगरी के तहत आते हैं लोन के लिए अप्लाई करने के लिए आपको अपने निजी बैंक शाखा में जाना होगा आप ऑनलाइन भी आवेदन कर सकते हैं परंतु बेहतर होगा यदि आप पहले जाकर बैंक मैनेजर से मिले। इसमें गलती की कोई गुंजाइश नहीं रहती है बैंक मैनेजर आपको स्वयं बताएगा कि आपको आगे क्याक्या करना है आप किस कैटेगरी के तहत पड़ते हैं आशा करते हैं इस लेख के माध्यम से आपको अपने सभी प्रश्नों का जवाब मिल चुका है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*