Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana – PMJDY | प्रधानमंत्री जन धन योजना

Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana

Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana 

 

Jan Dhan Yojana का  उद्देश्य

देश में गरीबी एक बहुत बड़ी समस्या है।  भारत सरकार इस समस्या से निपटने के लिए निरंतर प्रयास करती रही है।  भारत सरकार ने गरीबी को दूर करने के लिए गरीबों के वित्तीय समावेशन को बेहद जरूरी बताया है।  यदि जनसंख्या के इस बडे हिस्से के लोग में वित्तीय सेवाओं से वंचित रहेंगे तो यह हमारे देश के विकास में एक बहुत बड़ी रुकावट बन सकती है| देश के नागरिकों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने की आवश्यकता थी। सरकार को चाहिए था कि वह कुछ ऐसा करे जिससे यह वित्तीय रूप से कमजोर वर्ग आर्थिक सशक्तिकरण से होने वाले लाभ ले सकें और देश के विकास का हिस्सा बन सकें। 

    देश की जनसंख्या के इस बड़े हिस्से की वित्तीय साक्षरता व वित्तीय सशक्तिकरण को मुख्य उद्देश्य बनाकर भारत सरकार ने इन्हीं गरीब लोगों के लिए Pm Jan Dhan Yojana (PMJDY) शुरू की|

 

Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana का शुभारंभ

   विश्व की इस सबसे बड़ी वित्तीय समावेशन योजना PM Jan dhan Yojana की घोषणा प्रधानमंत्री जी ने 15 अगस्त 2014 को लाल किले से अपने स्वतंत्रता दिवस के पहले उद्बोधन में की थी।   

इस योजना का शुभारंभ 28 अगस्त 2014 को पूरे देश में एक साथ किया गया था।  लोगों को इस Pradhanmantri Jan Dhan Yojana से जोड़ने के लिए भारत सरकार ने प्रधानमंत्री जी के नाम से लगभग 7.25 लाख बैंक कर्मचारियों को ई-मेल भेजा। 

जिसमें सरकार ने 7.5 करोड़ जनधन बैंक खाता खोलने का लक्ष्य प्राप्त करने और इस वित्तीय निरक्षरता असमानता को समाप्त करने में सहायता करने का आग्रह किया था| इस योजना का मुख्य नारा “मेरा खाता,भाग्य विधाता” है।  इस नारे का अर्थ है कि “मेरा खाता मेरे लिए सौभाग्य लाता है। “

 20 जनवरी 2015 को इस योजना को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में शामिल कर लिया गया| Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana को रिकॉर्ड बनाने का प्रमाण पत्र देते हुए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड संस्था ने कहा कि “वित्तीय समावेशन अभियान के एक भाग के रूप में एक सप्ताह में सबसे अधिक 180,096,130 बैंक खाते खुलवाए गए, यह एक विश्व रिकॉर्ड है|” भारत सरकार के वित्तीय सहायता विभाग ने 23 अगस्त 2014 से 29 अगस्त 2014 के बीच यह खाते खोले|  इस अवसर पर तत्कालीन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana को गरीब लोगों के लिए प्रत्यक्ष लाभ का एक ऐसा मंत्र बताया था जिससे सब्सिडी की खामियां दूर करने में सहायता मिलती है तथा राजकोष की बचत को बल मिलता है|

 

 Pm Jan Dhan Yojana क्या है

   प्रधानमंत्री जन धन योजना भारतीय केंद्र सरकार का एक वित्तीय समावेशन का कार्यक्रम है| जो सभी भारतीय नागरिकों के लिए खुला है| इसका एकमात्र उद्देश्य वित्तीय सेवाओं जैसे बैंक खाते, ॠण, प्रेषण, बीमा और पेंशन जैसी सुविधाओं को लोगों तक सस्ते, सुलभ और प्रभावी तरीके से पहुंचाना है| PMJDY के अंतर्गत कोई भी व्यक्ति भारत के किसी भी बैंक में मुफ्त में अपना खाता खुलवा सकता है| इन खातों में न्यूनतम धनराशि (minimum balance) रखने की भी बाध्यता नहीं होती है परंतु यदि खाताधारक को चेक बुक प्राप्त करनी है तो उसे न्यूनतम धनराशि से जुड़े सभी नियम व मानदंड मानने होंगे| ऐसी परिस्थिति में वह न्यूनतम धनराशि ना रखने के लाभ से वंचित रह सकते हैं|

Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana के अंतर्गत कहां खाता हो सकते हैं

    यह  प्रधानमंत्री Jan Dhan Yojana पूरे देश में सभी नागरिकों के लिए एक समान रूप से लागू है| देश का कोई भी नागरिक देश के किसी भी हिस्से के किसी भी बैंक की किसी भी शाखा अथवा बैंकों से जुड़े निजी बैंक मित्र आउटलेट पर अपना जनधन खाता खुलवा सकता है| 10 वर्ष या उससे अधिक उम्र के नाबालिग नागरिक भी खाता खुलवा सकते हैं परंतु उन्हें इस खाते के प्रबंधन के लिए एक वयस्क अभिभावक के साथ जॉइंट खाता खोलना होगा|

   यदि किसी को अपना जनधन खाता खोलने में समस्या होती है या किसी भी प्रकार की सहायता की आवश्यकता है तो वह प्रधानमंत्री जनधन योजना के सहायता केंद्र पर संपर्क कर सकते हैं सहायता केंद्र का राष्ट्रीय टोल फ्री नंबर 1800 11 001 व 1800 180 1111 हैं|

 

Jan Dhan Yojana खाता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • यदि आवेदक के पास आधार कार्ड है तो उसे किसी भी अन्य दस्तावेज की आवश्यकता नहीं पड़ेगी| यदि आवेदक पता बदल गया है तो वर्तमान पते का स्वप्रमाणन भी करना होगा|
  • यदि आवेदक के पास आधार कार्ड नहीं है तो वह अपना वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट, नरेगा कार्ड जैसे कोई भी सरकारी वैध दस्तावेज  से अपना खाता खुलवा सकते हैं| यदि उस पहचान पत्र पर पता मौजूद है तो वह पहचान व पता का भी प्रमाण करता है|
  •   यदि आवेदक के पास इनमें से कोई भी दस्तावेज उपलब्ध नहीं है तो इसे बैंक के द्वारा कम जोखिम किस श्रेणी में वर्ग किया गया है तो निम्न में से कोई एक  दस्तावेज उपलब्ध कराकर खाता खुलवाया जा सकता है|

  अ) केंद्र या राज्य सरकार के किसी विभाग, वैधानिक/विनियामक प्राधिकरण, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों और वित्तीय संस्थानों द्वारा जारी ऐसे पहचान पत्र जिन पर आवेदक की फोटो लगी हो|

  ब) आवेदक की सत्यापित तस्वीर के साथ राजपत्रित अधिकारी द्वारा जारी पत्र|

 

PMJDY के लाभ

  • खाताधारक की जमा राशि पर ब्याज
  • खाताधारक को ₹1,00,000 का दुर्घटना बीमा
  • इन खातों में न्यूनतम शेष राशि की रखने की आवश्यकता नहीं है परंतु यदि रुपए कार्ड से एटीएम द्वारा पैसे निकालने हैं तो कुछ न्यूनतम शेष राशि रखने की सलाह दी जाती है|
  • खाताधारक को ₹30000 का जीवन बीमा
  • पूरे भारत में कहीं भी पैसे भेजने की सुविधा
  • सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को इन खातों के जरिए सीधा लाभ मिलेगा 
  • खाताधारक की बीमा व पेंशन उत्पादन तक सीधी पहुंच रहेगी
  • प्रत्येक परिवार के एक खाते, विशेषकर महिलाओं के खाते में ₹5000 की ओवरड्राफ्ट की सुविधा रहेगी|

 

कोरोना की वैश्विक आपदा के काल में जन धन योजना

   आज जब पूरा विश्व कोरोना महामारी से लड़ रहा है| व्यापार-व्यवसाय बंद होने से गरीबों को आर्थिक रूप से कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है| ऐसे समय में PMJDY गरीबों के लिए बहुत सहायक बनी हैं| प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत जनधन खातों में 3 महीने यानी अप्रैल मई और जून में ₹500 की किस्तों आर्थिक सहायता के रूप में भारत सरकार द्वारा भेजी गई| इन तीन महीनों में भारत सरकार ने जनधन खातों में कुल 28,258 करोड रुपए की सहायता राशि पहुंचाई|

 

   यदि आप भी जनधन खाता धारक हैं तो आप भी इस योजना के कई प्रत्यक्ष लाभ होगा लाभ ले सकते हैं|यदि आप  जनधन खाता धारक नहीं है परंतु जनधन खाता खोलने के इच्छुक हैं तो ऊपर लिखे आवश्यक दस्तावेजों एवं प्रक्रिया से आप अपना खाता खुलवा सकते हैं, और भारत सरकार की कई योजनाओं का लाभ ले सकते हैं| भारत सरकार की यह योजना ना सिर्फ इस आपदा काल में बल्कि इससे पहले भी गरीबों के लिए एक बडी सहायता साबित हुई है|

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*